46th Amendment Part 14A articles 323-A & 323-B Current Topics

  Indian Constitution 46th Amendment

Constitution
 

 46 Ammendment के तहद Indian Constitution में part 14-A add हुआ। उसके तहद 2 articles add हुए for ‘Tribunals’ article 323-A & 323-B यह दोनों
   Eg.Central Administrative
Tribunal (CAT) यह article 323-A under आता है।


       Indian Constitution important Amendment

               Article-323A

        It empowers to Parliament to provide for establishment of administrative tribunals for adjudication of disputes relating to recruitment & condition of services of centres, States, local bodies, corporations etc.
      Eg. आपने SSC, UPSC, SPSC की exam crack की उन condition के तहत आप exam crack करते हो, अगर उन परिक्षाओं से संबंधित कोई तकरार है तो आप ऐसे Tribunals के पास जाओगे जो set किए गए है under article 323-A.
    इस article को ध्यान में रखते हुए parliament ने एक कानून सम्मत किया ”Administrative Tribunals Act-1985′. इसके तहत Central Administrative Tribunal (CAT) बनाया गया इसकी principle bench दिल्ली में है।
      CAT में public service से
related matters को सुना जाता है
        eg. IAS, IPS or centraC Services, Civilian employee under defence department.

     Note-: Members of defence colony force & Supreme Court में काम कर रहे लोग CAT में cover नहीं होते।
    1997 तक आप CAT के खिलाफ HCनहीं जा सकते थे, उसके खिलाफ आप सिर्फ SC में ही जाने का रास्ता था। इस वजह से CAT का स्थान HC से भी उच्चा होने लगा यह Constitution के fundament के मुलभूत ढांचे के विपरित चिज़ थी। परंतु Chandrashekhar Case के मुताबिक 1997 से आप HC में भी जा सकते हो, अन्यथा CAT जो है वह HC से भी बड़ा रहता।
      Note-: Article 323-A के तहत State Administrative Tribunal (SAT) or Joint Administrative Tribunal (JAT) states के लिए set किया जाता है by article 323-A by Parliament law. यह Law state assembly pass नही कर सकती।State Administrative Tribunal का chairman भी President के द्वारा appoint किया जाता है।

      Article 323-B

  इसके तहत कोई भी matter eg.Taxation, Foreign Exchange Dispute, Land reforms, Rent, Food issues etc इसके तहत जो भी Tribunals set होते है वे article 323-B में आते हैं।
      Article 323-B  के तहत जो Tribunals बिठाए जाते है वे state assembly भी law पास करके कर सकते है & also parliament can do it.


So, we hope that you understood about 46th amendment of Indian Constitution in detail and in simple language.

46th Amendment

 

Also Read

Gupta Dynasty

Follow on Social Media

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *